रिपोर्ट: अभिनेंद्र श्रीवास्तव/हसीन अंसारी

गाजीपुर। जनपद की नवागत जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने मंगलवार की शाम को पदभार संभाला। इससे पूर्व वह भदोही की जिलाधिकारी के रूप में तैनात थीं।

2013 बैच की आईएएस आर्यका अखौरी का जिलाधिकारी के तौर पर पहला कार्यकाल भदोही में बीता है। इसके बाद दूसरी नियुक्ति गाजीपुर में हुई है। इससे पहले वह बतौर उप जिलाधिकारी वाराणसी में 2015-16 में तैनात थीं। उसके बाद मेरठ की सीडीओ और लखनऊ में विशेष शिक्षा सचिव के रूप में भी अपनी सेवाएं दे चुकी हैं। आर्यका अखौरी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से एमएससी किया हुआ है। वह मूल रूप से बिहार की रहने वाली हैं। इधर, मंगलवार को दोपहर में निवर्तमान जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह हरदोई के लिए रवाना हुए।

गाज़ीपुर जनपद में कई चुनौतियां हैं जैसे सरकारी स्कूलों की स्थिति काफी दयनीय है, प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर कई आरोप हैं, शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगहों पर जल निकासी की समस्या है सड़कों की स्थिति काफी दयनीय है, शहर में बार-बार अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जाता है लेकिन लेकिन वह पूर्ण रूप से सफल नहीं हो पाता, सड़कों का चौड़ीकरण ना होने की वजह से और सड़कों पर डिवाइडर ना होने की वजह से ट्रैफिक की समस्या का सामना आम जनमानस को करना पड़ता है, पिछले दिनों आई रिपोर्ट के अनुसार जन समस्याओं की सुनवाई में गाजीपुर पिछड़ा रहा है। इन तमाम चुनौतियों का सामना नवागत जिला अधिकारी आर्यका अखौरी को करना है।

देखने वाली बात ये है कि तेज तर्रार जिलाधिकारी कहे जाने वाली आर्यका अखौरी किस तरह से जनपद गाजीपुर के जनमानस के समस्याओं का समाधान निकालती हैं?

Leave a Reply

error: Content is protected !!