………………….
#vishalsinghchanchal #ghazipur #cmyogi

गाज़ीपुर। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के जनपद गाजीपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगमन हुआ, मौका था पीजी कॉलेज प्रांगण में बाबू राजेश्वर प्रसाद सिंह के प्रतिमा के अनावरण का। सीएम योगी ने राजेश्वर प्रसाद सिंह के संघर्षों पर प्रकाश डाला और कहा कि देश में उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां पर सबसे ज्यादा युवा हैं, हम राष्ट्रीय शिक्षा नीति के द्वारा युवाओं का भविष्य बदल रहे हैं उन्होंने पीजी कॉलेज की तारीफ भी की।

गाज़ीपुर में मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम पीजी कॉलेज को गाजीपुर की गौरवशाली इतिहास में जोड़ने वाले बाबू राजेश्वर प्रसाद सिंह के सम्मान में तो था ही साथ ही सीएम योगी का मंच गाजीपुर के नई राजनीति की ओर इशारा भी कर रहा था।

जी हां सीएम योगी के मंच पर जो चेहरे नजर आ रहे थे वह गाजीपुर में राजनीति की नई पटकथा लिखने की तैयारी कर रहे हैं। सीएम योगी के साथ मंच पर एमएलसी विशाल सिंह चंचल, जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह के साथ ही अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी अध्यक्ष चंदन सिंह राणा की मौजूदगी भी थी। लोग इसे गाजीपुर में सीएम योगी के एक नए टीम के रूप में देख रहे हैं, यह सारे चेहरे युवा हैं और राजनीति में सक्रिय हैं।

सवाल था कि सीएम योगी के साथ मंच पर सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त, पूर्व मंत्री संगीता बलवंत और पूर्व विधायक सुनीता सिंह की मौजूदगी तो थी, लेकिन पहली पंक्ति में भाजपा के अन्य मजबूत नेताओं की जगह विशाल सिंह चंचल और सपना सिंह के साथ चंदन सिंह राणा की मौजूदगी नए सवाल पैदा कर रही थी।

गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में मनोज सिन्हा को 2014 के मुकाबले ज्यादा मत मिला था लेकिन सपा और बसपा का गठबंधन होने की वजह से भाजपा गाजीपुर के लोकसभा सीट नहीं निकाल पाई थी। वहीं 2022 गाजीपुर की सातों विधानसभा सीट भाजपा के हाथ से चली गई 5 सीटें समाजवादी पार्टी के खाते में गई तो 2 सीटें सुभासपा के खाते में आई।

खैर अब ओमप्रकाश राजभर, सीएम योगी की तारीफ कर रहे हैं और सीएम योगी अपने भाषणों में राजा सुहेलदेव को याद कर रहे हैं। जानकारों का मानना है कि 2024 के चुनाव को देखते हुए टीम योगी एक नई रणनीति तैयार कर रही है शायद यही कारण है की अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी अध्यक्ष चंदन सिंह राणा सीएम योगी के साथ पहली पंक्ति में मंच साझा करते हुए नजर आए।

कहां जा रहा है कि चंदन सिंह राणा की युवाओं में अच्छी पकड़ है और गाजीपुर में मतदाताओं को रिझाने में कामयाब है वही विशाल सिंह चंचल और सपना सिंह ने सपा का वर्चस्व खत्म कर गाजीपुर में इतिहास रच ही दिया है। देखने वाली बात यह होगी कि योगी जी की इस नई टीम की रणनीति क्या है?

Leave a Reply

error: Content is protected !!