Arshdeep Singh, India vs Pakistan: पाकिस्तान की नापाक चाल और छिछोरेपन से पूरा विश्व वाफिक है। हर बार पाकिस्तान अपनी घटिया हरकत से चर्चाओं में आ ही जाता है। खबरें तो ये भी कहती हैं कि पाकिस्तान इन हरकतों आईएसआई का भी हाथ है। अभी लंदन से कार चुराने को लेकर पाकिस्तान की किरकिरी हो रही थी की अब उसने भारत से पंगा ले लिया। शायद वो ये भूल गया की भारत की हनक विश्व स्तर पर और हर बार की तरह पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी।

यूएई में खेले जा रहे एशिया कप के 15वें संस्करण में लगातार दूसरे रविवार भारत और पाकिस्तान की टीम के बीच रोमांचक भिड़ंत देखने को मिली जिसमें पाकिस्तान की टीम ने एक गेंद पहले जीत हासिल कर ली. भारतीय टीम के लिये इस मैच का नतीजा 18वें ओवर में जाकर बदला, जहां पर भारतीय टीम के लिये तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह से आसिफ अली का एक बेहद आसान सा कैच छूट गया.

कैच छोड़ने पर ट्रोल हुए अर्शदीप सिंह


नतीजन आसिफ अली ने भुवनेश्वर के अगले ही ओवर में गियर बदल दिया और 8 गेंदों में 16 रन बनाकर भारत की गिरफ्त से मैच को दूर कर दिया. मैच के बाद सोशल मीडिया पर अर्शदीप सिंह तेजी से ट्रोल होने लगे और देखते ही देखते सोशल मीडिया पर उनके नाम के साथ ‘खालिस्तानी’ ट्रेंड होने लगा है.


हालांकि आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अर्शदीप सिंह के नाम के साथ खालिस्तानी ट्रेंड कराने के पीछे पाकिस्तान का हाथ है जिसने इसकी शुरुआत की. कुछ पाकिस्तान फैन्स ने जीत के बाद अर्शदीप सिंह को आसिफ अली का कैच छोड़ने के लिये बधाई दी और लिखा कि खालिस्तानी भाई ने जो तोहफा दिया उसके लिये धन्यवाद.

वहीं पर कुछ अन्य पाकिस्तानी यूजर्स ने खुद को खालिस्तान समर्थक बताते हुए अर्शदीप सिंह को उसका ब्रैंड एंबेसडर करार दिया. पाकिस्तान की ओर से शुरू किये गये इस प्रोपेगैंडा में कुछ मूर्ख भारतीय यूजर्स भी शामिल हो गये जिसके बाद ट्विटर यह तेजी से ट्रेंड होने लगा है.

गौरतलब है कि अर्शदीप सिंह के उस कैच को छोड़ दिया जाये तो उन्होंने पूरे मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए मैच जिताऊ गेंदबाजी की है. हालांकि भारत-पाकिस्तान मैच का दबाव इतना ज्यादा होता है कि किसी भी युवा खिलाड़ी के लिये अपना संयम बरकरार रखना मुश्किल हो जाता है.

यही नहीं उनके विकिपीडिया पेज पर खालिस्तान जोड़ दिया गया। तो फिर गया भारत सरकार ने विकिपीडिया की क्लास दी। खालिस्तान का नाम जोड़े जाने के मामले को लेकर सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय गंभीर हो गया है। मंत्रालय ने अब इस मामले में भारत में विकिपीडिया के अधिकारियों को समन जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। भारत-पाकिस्तान के रविवार के मैच के बाद अर्शदीप सिंह के विकिपीडिया पेज पर कई बदलाव किए गए थे जो सार्वजनिक तौर पर नजर भी आ रहे थे। हालांकि बाद में इसे सुधारा गया। जाहिर सी बात है विकिपीडिया भी पाकिस्तान की हरकतों को समझ गया होगा।

सामने आई जानकारी के अनुसार ऐसा ट्रेंड पाकिस्तान की ओर से चलाया गया। इसे लेकर भी यूजर्स ने आईपी अड्रेस और दूसरी डिटे्स साझा किए हैं।

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने लिखा, ‘अर्शदीप सिंह के खिलाफ पाकिस्तान और ISI द्वारा ट्विटर पर चलाए जा खालिस्तानी ट्रेंड की मैं कड़ी निंदा करता हूं। हर भारतीय अर्शदीप सिंह के साथ खड़ा है और भारत में सिखों को अलग-थलग करने की पाकिस्तान की नापाक कोशिश कभी कामयाब नहीं होगी।

गौरतलब है कि इससे पहले पिछले साल वर्ल्ड टी20 के दौरान पाकिस्तान से हार के बाद मोहम्मद शमी को भी ऐसे ही निशाना बनाया गया था। उस मैच में भारत को पाकिस्तान से 10 विकेट से हार मिली थी। इस मैच में मोहम्मद शमी महंगे साबित हुए थे। उन्होंने 3.5 ओवर में 43 रन दिए। मुकाबले के बाद उनको सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया और अपमानजनक टिप्पणियां की गई थी। इसके भी तार पाकिस्तान से जुड़े होने की बातें सामने आई थीं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!