गाजीपुर के अठहठा गांव में बुधवार को यात्रियों से भरी नाव बाढ़ के पानी में पलटने से लापता पांच लोगों के शव भी गुरुवार को बरामद कर लिए गए। इस तरह हादसे में मरने वालों की संख्या सात हो गई। ह्दय विदारक हादसे से पूरा जनपद गमगीन हो गया। जनपद के कई जनप्रतिनिधि और अन्य लोग घटना स्थल, मर्चरी हाउस और अंत्येष्टि स्थल पहुंचे। विधायक मन्नू अंसारी घटना स्थल पर पहुंचे, उन्होंने परिजनों को हर मुमकिन मदद करने का आश्वासन दिया, वहीँ भाजपा जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह समेत कई भाजपा पदाधिकारी और कार्यकर्त्ता मर्चरी हाउस पहुंचे वहां उन्होंने इस घटना पर दुःख जताया. पीड़ितों के रोने-बिलखने और बदहवासी के बीच वे लोगों को ढाढ़स बंधाते रहे। नाव हादसे ने छह परिवारों को ताउम्र न भूलने वाला दुख दिया है।

गुरूवार देर शाम सभी मृतकों का अंतिम संस्कार प्रशासन की तरफ से गाजीपुर स्थित शमशान घाट पर कराया गया. तहसीलदार सदर अभिषेक कुमार ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर हम लोग पोस्ट मार्टम हाउस गये. वहां से नियम के तहत हम शमशान घाट आये, वहां मृतक के परिजन, वर्तमान प्रधान, पूर्व प्रधान, भाजपा और बसपा के नेता मौजूद थे. उन्होंने कहा कि हम लोगों ने नगरपालिका इओ लाल चंद सरोज की मदद से घाट पर लकड़ियों सहित अन्य सामग्री की व्यवस्था करवाई. सात लोगों का अंतिम संस्कार करवाया गया है. मौके पर नगरपालिका इओ लाल चंद सरोज, छावनी लाइन के लेखपाल राम अवतार, गोंडा के लेखपाल राकेश राय, लेखपाल सुदीप झा, लेखपाल निलेश यादव सहित सम्बंधित थाने इंस्पेक्टर मौजूद थे.

Leave a Reply

error: Content is protected !!