पूरी अकीदत से मना ईद-उल-अजहा का पर्व, गले मिल दी एक दूसरे को बधाई, मुल्क की तरक्की और अमनचैन की दुआ
ग़ाज़ीपुर/जमानिया कुर्बानी का त्योहार ईद-उल-अजहा (बकरीद) रविवार को ग़ाज़ीपुर जनपद में पूरी अकीदत से मनाया गया ईद-उल-अजहा का पर्व। इस मौके पर ग़ाज़ीपुर के ईदगाहों में और मस्जिदों में पूरी अकीदत के साथ नमाज अदा की गई। नमाजियों ने खुदा की बारगाह में मुल्क की तरक्की, अमन-चैन के साथ बरकत और खुशहाली के लिए दुआ की। फिर एक दूसरे के गले मिल एक दूसरे को दी मुबारकबाद। बता दें कि ये मौका ईद की नमाज़ के तरह कोरोना काल के दो साल बाद आया था जब मस्जिदें और ईदगाह गुलजार हुए। बतादें कि इससे पहले लगातार दो साल कोरोना महामारी के कारण मुस्लिम बंधुओं ने अपने घरों में ही बकरीद की नमाज अदा की थी। इस बार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुस्लिम भाई सुबह-सुबह घरों से सज-धज कर निकले। नमाज के दौरान शासन-प्रशासन के दिशा निर्देशों का पूरा खयाल रखा गया। नमाज अदा करने के साथ ही शहर से लेकर गांवों तक कुर्बानी का दौर शुरू हो गया है।

सुबह छह बजे के पहले ही मस्जिदों व ईदगाहों पर जुटे नमाजी
⚡बकरीद की नमाज सुबह सवा छह बजे से शुरू हो गई थी।ग़ाज़ीपुर के विशेश्वरगंज ईदगाह, जमानिया के दुरहिया का ईदगाह, मस्जिद उमर, जामा मस्जिद, सरदार खान की मस्जिद, धरम्मरपुर की ईदगाह अलावा शहर से देहात तक की मस्जिदों में सुबह तय समय से पहले ही नमाजियों का भीड़ लगनी शुरू हो गई थी। इस दौरान सुरक्षा के मुकम्मल इंतजाम रहे। हालांकि एहतियातन प्रमुख मस्जिदों में नमाज के मद्देनजर पुलिस की तैनाती भी की गई थी।

ईदगाहों पर मेले जैसा मंजर
⚡नमाजियों ने रवायतों के अनुसार अल्लाह की राह में कुर्बानी भी पेश की। नए परिधानों में सजे मुस्लिम भाइयों ने एक-दूसरे से गले मिलकर बकरीद की मुबारकबाद दी। मस्जिदों व ईदगाहों के इर्द-गिर्द मेले जैसे मंजर नजर आया। इसका लुत्फ बच्चों ने भरपूर उठाया। नए परिधानों में सज-धज कर निकले बच्चों ने गुब्बारों और अपने पसंदीदा खिलौनों की खरीददारी की।

कुर्बानी के मद्देनजर साफ-सफाई के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।
जमानिया उपजिलाधिकारी भारत भार्गव, क्षेत्राधिकारी आनंद शाही कोतवाल वंदना सिंह और तहसीलदार लाल जी विश्वकर्मा ने
बकरीद की मुबारकबाद दी। साथ ही शांतिपूर्ण तरीके से पर्व मनाने की अपील की है। कहा कि अफवाहों पर तनिक भी ध्यान न दें। कोई भी गड़बड़ी करने की कोशिश करता है तो तत्काल पुलिस को इत्तिला करें। शांति और कानून व्यवस्था में बाधक बनने वालों के साथ पुलिस सख्ती से पेश आएगी। कुर्बानी घर मे ही करें साफ सफाई पर ध्यान दें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!