Special Report || 22 जून की तारीख और रेलवे स्टेशन और मंदिरों को उड़ाने की धमकी. जिसने भी ये खबर सुनी वो चौकन्ना हो गया. इस धमकी भरे पत्र मिलने से महकमे में सनसनी फ़ैल गई। रेलवे परिसर में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दिए गए हैं। ऐसी खबर सुनते ही वाराणसी के सीरियल धमाके की तस्वीर सामने आ जाती है, जिसके बारे में सोचकर ही रुक कांप जाता है. अब सवाल ये है कि ये धमकी दी किसने?

यह पत्र गाजीपुर सिटी रेलवे स्टेशन के आरपीएफ इंस्पेक्टर कृष्णानंद के नाम से आया है। कृष्णानंद जीआरपी थाने के उपनिरीक्षक हैं। उनका कहना है कि पत्र में बहुत कुछ समझ में नहीं आ रहा है। वैसे तो गाजीपुर एक सहन्त जनपद है. आमतौर यहाँ से किसी तरह के बवाल या साम्प्रदयिक घटनाओं की खबर नहीं आती है, लेकिन गाजीपुर में इस पत्र के मिलने से महकमे में सनसनी तो फ़ैल गई है.

ख़बरों के अनुसार आरपीएफ और जीआरपी स्वीकार कर रही है कि पत्र मिला है, आरपीएफ इंस्पेक्टर अमित राय ने बताया कि तीन-चार दिन पूर्व उन्हें पत्र मिला था। इसमें कई स्टेशनों का जिक्र है, लेकिन लिखावट ऐसी थी कि बहुत समझ में नहीं आ रहा है। यह पत्र कृष्णानंद के नाम से आया था। उन्हें पत्र दे दिया गया है, आगे की कार्रवाई जीआरपी कर रही है। जीआरपी के उपनिरीक्षक कृष्णानंद ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर विवेचना की जा रही है। उधर, गोरखपुर सर्किल से सीओ भी स्टेशन पर पहुंचे हुए थे।

ख़बरों के अनुसार आरपीएफ इंस्पेक्टर के नाम आतंकी संगठन लश्कर -ए – तैयबा की ओर से तीन – चार दिन पहले कथित तौर पर एक धमकी भरा पत्र जारी किया गया था। जिसमे 22 जून को गाजीपुर, वाराणसी, गोरखपुर, आजमगढ़, मुरादाबाद, बरेली, अयोध्या, मथुरा, झांसी और नई दिल्ली के रेलवे व बस स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। पत्र लिखने वाले ने खुद को आतंकी संगठन लश्कर -ए – तैयबा का कमांडर करीम अंसारी और पता कश्मीर का बताया था। इसके बाद से ही सुरक्षा एजेंसियों ने सतर्कता शुरू करने के साथ ही जांच और निगरानी कड़ी कर दी है। परिसर में सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी करने के साथ ही निगरानी भी कड़ी कर दी गई है।

अब ये कश्मीर का करीम अंसारी कौन है? जो अपने आप को आतंकी संगठन लश्कर -ए – तैयबा का कमांडर बता रहा है? खैर इसकी जाँच की जा रही है.

ख़बरों के अनुसार इस पात्र में दो तारीखों का जिक्र है पहला 22 जून और दूसरा 25 जून. कथित धमकी भरे पत्र के अनुसार 22 जून को बस और रेलवे स्टेशन पर विस्फोट करने के लिया लिखा है और 25 जून को उत्तर प्रदेश में हिंदुओ की आस्था के केंद्र तीन प्रमुख मंदिरों को निशाना बनाया जाएगा। पत्र में 25 जून को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या और श्री कृष्ण जन्मभूमि मथुरा को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। एहतियातन पूरे प्रदेश में चौकसी बढ़ा दी गई है।

अब ये पत्र गाजीपुर आरपीएफ को मिला है. ये सब जाँच का विषय है और प्रशासन व पुलिस हाई अलर्ट पर है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!