गाज़ीपुर | ये करमपुर का करम है खेल ही जिसका धर्म है. जी हाँ कुछ ऐसी ही कहावत चरितार्थ हो रही है गाजीपुर के मेघबरन सिंह स्टेडियम करमपुर के लिए. करीब 35 साल पहले स्वर्गीय तेज बहादुर सिंह के जज्बे ने करमपुर का भाग्य बदल दिया. उन्होंने बच्चों और युवाओं के लिए जी तोड़ मेहनत की, हाकी सिखाया, पहलवानी सिखाया, दूध दिया, खाना दिया, आर्थिक रूप से कमजोरों की खूब मदद की. नतीजा आज उनके नक्से कदम पर चलने वाले बच्चे और युवा भारत का नाम रोशन कर रहे हैं. उनके बनाये स्टेडियम और स्टेडियम में जिन्दा उनके जज्बे ने करमपुर को विश्व स्तर पर पहुंचा दिया है. शायद यही कारन है कि आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी करमपुर के इस उपलब्धि से मात्र प्रभावित नहीं हैं बल्कि हर मुमकिन सहयोग देना चाहते हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह के पुत्र व मेघबरन सिंह स्पोर्ट्स अकादमी के संचालक अनिकेत सिंह के साथ गए खिलाड़ियों ने मंगलवार की शाम लगभग छह बजे सीएम कार्यालय के ओएसडी से भेंट कर मुख्यमंत्री से मिलने की इच्छा जताई। जिस पर अगली सुबह लगभग आठ बजे ही जवाब मिल गया। बुधवार की सुबह सीएम कार्यालय से फोन आया और उसी दिन शाम पांच बजे सीएम ने टीम से मुलाकात की।

प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने बुधवार को अपने आवास पर करमपुर के तीनों खिलाड़ियों उत्तम सिंह, राजकुमार पाल और पवन कुमार से मुलाकात की और उन्हे एशिया कप जकार्ता से देश के लिए कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा बनने पर आशीर्वाद व शुभकामनाएं दीं। इस मौके पर सीएम ने पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह के पुत्र व मेघबरन सिंह स्पोर्ट्स अकादमी के संचालक अनिकेत सिंह के नेतृत्व में गए खिलाड़ियों से एक-एक कर मुलाकात किया और जकार्ता के उनके खेल अनुभवों से अवगत हुए।

अनिकेत सिंह ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करमपुर में हॉकी एकेडमी खोलने के लिए निवेदन किया। मुख्यमंत्री से बताया कि करमपुर के हॉकी स्टेडियम से राष्ट्रीय स्तर की टीम के सब जूनियर में छह, जूनियर में चार, सीनियर में पांच खिलाड़ी हैं। जिसमें उत्तम सिंह को राईजिंग प्लेयर आफ द टूर्नामेंट, पवन को दो बार मैन आफ द मैच और राजकुमार को जापान के खिलाफ एक विजयी गोल पास करने का श्रेय है। जिस पर मुख्यमंत्री ने सभी को बधाई दी।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने गाजीपुर जैसे पिछड़े जनपद के एक छोटे से करमपुर गांव में लगभग 35 वर्षों पूर्व मेघबरन स्टेडियम की स्थापना कर उसे हाकी के शीर्ष ऊंचाईयों तक ले जाने वाले संस्थापक ठाकुर तेजबहादुर सिंह के अथक प्रयासों की बहुत सराहना की। मुख्यमंत्री से मिलकर लौटे खिलाड़ियों ने बताया कि मेघबरन स्टेडियम में खेल संबंधी हरसंभव सहयोग दिलाने का वायदा भी मुख्यमंत्री ने किया। मुलाकात के दौरान खिलाड़ियों ने मेघबरन स्टेडियम के संचालक अनिकेत सिंह संग मुख्यमंत्री को श्रीराम दरबार का स्मृति चिन्ह भेंट किया। जिस पर वह अत्यंत ही आह्लादित दिखे। अनिकेत सिंह ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री से करमपुर आने का निवेदन भी किया, जिस CM Yogi ने उन्हें आश्वासन दिया की वो बहुत जल्द करमपुर आयेंगें.

Leave a Reply

error: Content is protected !!