स्कूल में छात्रों को मात्र किताबी शिक्षा देना ही काफी नहीं होता, इसके साथ ही आवयश्कता होती है नए नए एक्टिविटीज की जिसकी वजह से छात्रों का मानसिक और शारीरिक विकास हो सके. हर स्कूल गर्मियों में छुट्टियों के ठीक बाद समर कैंप का आयोजन करते हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के जनपद गाजीपुर के बरबरहना स्थित M.A.H. इन्टर कॉलेज ने अपने समर कैंप में ऐसे ऐसे कार्यक्रमों आयोजन किया जिससे छात्रों की खुशियों का ठिकाना नहीं रहा, वहीँ इस कॉलेज के समर कैंप की तारीफ अधिकारीयों समेत बड़े बड़े हस्तियों ने भी की.

छात्रों के अंदर छिपी हुई प्रतिभाओं को निखारने के लिए इस तरह के आयोजन की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है. एम0ए0एच0 इण्टर कॉलेज में चल रहे ग्रीष्मकालीन शिविर में गीत, संगीत, ग़ज़ल, नृत्य, क्रिकेट प्रतियोगिता सहित कई कार्यकमों का आयोजन किया गया. ग्रीष्मकालीन शिविर 2022 के चौथे दिन बतौर मुख्य अतिथि कॉलेज के प्रबंधक हाजी मु0 वारिस हसन खान ने कहा कि ” बच्चों के अन्दर छिपी प्रतिभाओं को निखारने के लिए इस तरह के कार्यक्रम की बहुत ही बड़ी भूमिका होती है।” उन्होंने होनहार छात्र-छात्राओं के गायन और खेल के बेहतरीन प्रदर्शन को देखकर कहा कि “यह हमारे कर्मठ प्रधानाचार्य, शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं के परिवार व पारिवारिक संस्कार का प्रतिफल है।”

वहीँ ग्रीष्मकालीन शिविर 2022 के पांचवें दिन मुख्य अतिथि ग़ाज़ीपुर जनपद के जिला विद्यालय निरीक्षक श्री डॉ0 ओ0पी0 राय, विशिष्ट अतिथि भारतीय मूल के दोहा (क़तर) निवासी व मशहूर ग़ज़ल-गो श्री अब्दुल ख़ैर साहब, फसिहुज़्ज़मां साहब, तुफ़ैल अहमद साहब, ग़ुलाम साबिर साहब तथा सा रे गा मा प्रोग्राम में चैंपियन, सुपरस्टार सिंगर सोनी टीवी व ज़ी टीवी के मशहूर बाल कलाकार मु0 अहमद वारसी खां (13 वर्ष) व अलीशा वारसी (16 वर्ष) एवं देश के प्रसिद्ध तबला वादक दीपक जी थे।

DIOS डॉ0 ओ0पी0 राय ने कहा कि छात्र-छात्राओं को तराशने व निखारने की ज़रूरत है जो कि समर कैंप की वजह से सम्भव है। इसमें छात्र-छात्राओं को खेल का मैदान व कार्यक्रम मंच पूरी तरह सौंप देने से वे स्वतंत्र रूप से सभी पदभार जैसे- संचालन, प्रस्तुति, कमेंट्री, अभिनय, आदि को व्यावहारिक तौर पर सिखते हैं।

वहीँ वरिष्ठ ग़ज़ल-गो जनाब अब्दुल ख़ैर साहब ने अपनी ग़ज़ल पेश करके महफ़िल में चार चांद लगा दिया तो वहीं जनाब फसीहुज़्ज़मां साहब ने अपनी आवाज़ से सितारे बिखेर दिये। जनाब ग़ुलाम साबिर साहब ने तो प्रधानाचार्य मु0 ख़ालिद अमीर रचित ग़ज़ल को स्वर देकर महफ़िल में जोश भर दिया। और तो और मशहूर बाल कलाकारों अलीशा वारसी व मो0 अहमद वारसी ने अपनी प्रस्तुति से उपस्थित श्रोताओं का दिल जीत लिया और अपने इस गतिविधि से छात्र-छात्राओं को अपने जीवन में कुछ बड़ा करने के लिए प्रेरित भी किया।

प्रधानाचार्य मु0 ख़ालिद अमीर ने बताया कि यह समर कैंप 4 जून तक चलेगा. उन्होंने बाते कि समर कैंप के माध्यम से हमारा मकसद बच्चों अन्दर छिपी प्रतिभा को निखारना है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!