समाज के लिए मुद्दा निर्धारित करने में कई न्यूज़ चैनल अहम् भूमिका निभा रहे हैं. लेकिन गंभीर सवाल ये है की आप के लिए अहम् मुदा क्या है?

DU के प्रोफेसर रतन लाल अरेस्ट, ज्ञानवापी में कथित शिवलिंग मिलने पर की थी अभद्र टिप्पणी

या

दारोगा भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में 16 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार. इनमें 3 महिलाएं भी शामिल

समाज में महत्वपूर्ण मुद्दों को आपको तलाशना है. जिन मुद्दों पर आप चिंतन करेंगें, अपने भविष्य में वैसा फल पायेंगें.

मुद्दा जन्समयाओं का या धर्म की समस्याओं का. वैसे भी हर धर्म में समानता सिकयाई जाती है, लेकिन असामनता सिखाने वाले नए विद्वान् कहाँ से पैदा हो गए हैं इस पर भी शोध होनी चाहिए.

दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदू कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में शिवलिंग पाए जाने के दावों पर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के मुताबिक, रतन लाल को भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए (धर्म, जाति, जन्मस्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच वैमनस्य फैलाने) और 295ए ( धर्म का अपमान कर किसी वर्ग की धार्मिक भावना को जानबूझकर आहत करना) के तहत साइबर पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के वकील विनीत जिंदल की शिकायत के आधार पर मंगलवार रात रतन लाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी. वकील विनीत जिंदल ने अपनी शिकायत में कहा कि रतन लाल ने हाल ही में ‘शिवलिंग’ पर एक अपमानजनक और उकसाने वाला ट्वीट किया था. मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली पुलिस आज यानी शनिवार को रतन लाल को अदालत में पेश कर सकती है.

इधर उत्तर प्रदेश पुलिस दरोगा भारती में फर्जीवाड़े का मामला में नए उप्दतेस आ रहे हैं. ख़बरों के अनुसार लखनऊ की महानगर पुलिस ने दारोगा भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में 16 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया है. इनमें 3 महिलाएं भी शामिल हैं. मिली जानकारी के अनुसार, फर्जी दस्तावेजों के सहारे लिखित परीक्षा पास करने के बाद ये आरोपी DVPST (Document Verification and Physical Test) देने आए थे और इस दौरान इनकी गिरफ्तारी हुई.

बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड की ओर से उपनिरीक्षक (दारोगा) की भर्ती के लिए 12 नवंबर 2021 से 2 दिसंबर 2021 तक ऑनलाइन परीक्षा प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित की गई थी. आरोप है कि इन अभ्यर्थियों ने अनुचित साधनों का प्रयोग कर परीक्षा पास की. लखनऊ पुलिस ने अब इन आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

गौरतलब है कि इससे पहले महानगर पुलिस ने ऑनलाइन परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में बुधवार को 14 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने तब दावा किया था कि गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में परीक्षा में अनुचित साधनों का प्रयोग करने की बात स्वीकारी है और सभी के खिलाफ जरूरी विधिक कार्रवाई अमल में लाई जा रही है.

ध्यान रखिये इनकम टैक्स से लेकर किसी भी सामान को खरीदने पर आप टैक्स देते हैं और उसी पैसों को क्षेत्र के विकास में प्रयोग किया जाता है. तो क्या आपके गाँव सडकें दुरुस्त हैं, आपके विद्युत् व्यवस्था सही है, आपने पढाई की तो आपको नौकरी मिला क्या? पहले घर में किता पैसा आता था और कितना खर्च होता था. अब कितना आ रहा है और कितना खर्च हो रहा है?

विचार कीजिये. मुद्दा यही है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!