महुआबाग से ददरीघाट (संकट मोचन मंदिर रोड) को जोड़ने वाली सड़क जो लगभग 40 वर्षों से आमजन के लिए बंद है, वह अब खुलने जा रही है। नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष सरिता अग्रवाल इस रास्ते को खोलवाने के लिए प्रयासरत थीं।

इस संबंध में पूर्व अध्यक्ष एवं अध्यक्ष प्रतिनिधि विनोद अग्रवाल ने बताया कि लगभग 40 वर्ष पूर्व यह रास्ता आमजन के लिए खुला था, लेकिन अफीम कारखाना द्वारा इस रास्ते को बंद कर दिया गया था। इस पर अनिल बनाम अफीम कारखाना स्थानीय न्यायालय में मुकदमा चला जिसमें अफीम कारखाना यह मुकदमा हार गया था। इसके बाद अफीम कारखाना ने उच्च न्यायालय में अपील दाखिल किया जिसमें भी अफीम कारखाना मुकदमा हार गया और निचली अदालत के निर्णय को मानने के लिए आदेश पारित हुआ। इसके बाद इस रास्ते को खुलवाने के लिए लगातार कोशिश की जा रही थी।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह से मिलकर सारे अभिलेखीय साक्ष्य प्रस्तुत किए गए इस पर जिलाधिकारी ने इस महत्वपूर्ण जनहित के कार्य में विशेष रुचि दिखाते हुए अफीम कारखाना के साथ स्वयं की अध्यक्षता में एक बैठक कराई एवं सभी पक्षों को न्यायालय के आदेश के क्रम में अतिक्रमण-अवरोध को हटाने के आदेश का पालन करने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि उसी क्रम में बुधवार को ओपियम फैक्ट्री के अवर अभियंता अवधेश कुमार राय के साथ नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी लालचंद सरोज, अवर अभियंता विवेक बिंद एवं अन्य कर्मचारियों के साथ मौके पर स्थलीय निरीक्षण किया गया। उसकी नपाई वगैरह की गई। निर्देश दिया गया कि सबसे पहले वहां पर जो झांड़ आदि है उसे साफ कराया जाए एवं उसका आगणन तैयार कराकर इस सड़क को बनाने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जाए। सड़क बनने के बाद इस रास्ते को आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। अध्यक्ष प्रतिनिधि विनोद अग्रवाल ने बताया कि यह रास्ता खुलने के बाद नगर की अति व्यस्त सड़क महुआबाग को जाम की समस्या से निजात मिलेगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!