श्रीनगर | सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के मुठभेड़ की खबर कोई नै नहीं है. कश्मीर आज भी आतंकवादियों का आतंक कायम है, लेकिन भारत के सुरक्षाबल उन्हें कभी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होने दिया. मंगलवार रात को डाउनटाउन के रैनावारी इलाके में एक बार फिर सुरक्षाबलों और आतकवादियों में मुठभेड़ हो गई लेकिन किसी को भला क्या पता था जिससे मुठभेड़ हो रही है वो एक पत्रकार है जो आतंकवादी बन गया.

शाहबाद वीरी बिजबेहाड़ा का रहने वाला आतंकी रईस अहमद भट पुत्र अब्दुल हमीद भट पहले एक पत्रकार था। वह अगस्त 2021 में आतंकी संगठन में शामिल होने से पहले घाटी में चलने वाले ऑनलाइन पोर्टल ‘वैलीन्यूज सर्विस’ का मुख्य संपादक रह चुका है। खबरों के अनुसार पुलिस ने बताया कि रईस पिछले साल अगस्त में अचानक से लापता हो गया था। घरवालों ने पुलिस में जब उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई तो पुलिस ने उसकी पड़ताल शुरू की। पता चला कि रईस आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो चुका है। उसके खिलाफ विभिन्न थानों में दो मामले भी दर्ज हैं। उसे हमने सी श्रेणी के आतंकियों में शामिल कर रखा था।

ख़बरों के अनुसार पुलिस ने बताया कि उन्हें देर रात को ही रैनावारी में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर मिली थी। आधी रात को सुरक्षाबल तलाशी लेते हुए जब आगे बढ़ रहे थे तो एक जगह छिपे आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब उन्हें पता चला कि रैनावाड़ी में मौजूद आतंकियों में रईस और हिलाल शामिल हैं। उन्होंने दोनों को हथियार डालने के लिए कई बार मौके दिए इसके लिए परिजनों की मदद भी ली परंतु उन्होंने उनकी हर अपील का जवाब गोलीबारी से ही दिया। मजबूरन जवाबी कार्रवाई में उन्हें मारना पड़ा। मुठभेड़ रात 12.45 बजे शुरू हुई जो लगभग एक घंटे तक चली और दोनों आतंकी मारे गए। गोलियों से छलनी दोनों आतंकियों के शव भी मिल गए हैं।

वहीं मुठभेड़ में मारे गए दूसरे आतंकी की पहचान हिलाल अहमद राह उर्फ शब्बू पुत्र सफीर अहमद राह निवासी बिजबेहाड़ा के तौर पर हुई है। वह भी पिछले साल अक्टूबर में घर से लापता हो गया और लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन में शामिल हो गया था। उसे भी पुलिस ने आतंकियों की सूची में सी श्रेणी में रखा था।

सुबह सुरक्षाबलों ने इलाकेे में सर्च ऑपरेशन चलाया। जब इस बात की पुष्टि हो गई कि इलाके में कोई दूसरा आतंकी मौजूद नहीं है, तो सुरक्षाबल आतंकियों के शव व मुठभेड़ स्थल से बरामद हथियार लेकर वहां से चले गए।

Leave a Reply

error: Content is protected !!