संवाददाता वीरेन्द्र सिंह

अमेठी। बताते चले की तहसील तिलोई के ओदारी ग्राम सभा के मेडई रामगुलाम के चार पुत्र रामेश्वर, रामसुख, दुखी, परमेश्वर कुछ दिन पूर्व रामगुलाम की मृत्यु हो जाने से परिवार मे कलह होती चली गई है। नियामानुसार मृत्यु के उपरांत पत्नी सुनाथा चारो पुत्र के नाम जमीन बराबर सम्पति चारो के नाम राजस्व विभाग के अभलेखो मे दर्ज दर्ज हो चुकी। वही पर बडा भाई रामेश्वर, रामसुख अपने दोनो भाई व मां की जामीन हडपने के लिये राजस्व विभाग हल्का लेखपाल के मिली भगत से बहमी बटवारा बताकर गाटा षख्या 2446क 2511क को बडा भाई अपना निजी बता कर जबकर दबगई के बल पर कब्जा करने लगा। जिसका विरोध भाइयों व मां के करने पर कुछ दिन पहले बडा भाई रामेश्वर रामसुख दोनो सीधे साधे भाई को जमकर मारापीटा, कुछ दिन बाद उसी समलित जामीन पर पुन: निर्माण करने लगे तो पीडित पछ स्थानीय पुलिस प्रशासन को लिखित तहरीर देते हुए न्याय की गुहार लगाई। मौके पर स्थानीय पुलिस प्रशासन पहुच कर निर्माण कार्य को तत्काल रोकवा दिया। दबंगो के आगे लाचार पीडित मां भाई ने इसकी शिकायत विभागीय उच्चधिकारियो से की निडर बेख़ौफ दबग उसी जमीन पर पुन:कब्जा करने लगे। रोड के किनारे किमती जमीन पर बडे भाई की नियत बदल कर भाईयो को ही हर अन्जाम देने को तैयार है। पीडित भाई व मां हो रहे निर्माण का विरोध करने पर दबंग भाई मरने मारने की धमकी भी बराबर दे डाली । वही पर पीडित दुखी परमेश्वर मां सुनाथा ने उपजिलाधकारी तिलोई से लिखित सूचना देते हुये न्याय की गुहार लगाई। उपजिलाधकारी तिलोई सुनील कुमार त्रिवेदी मामले को गम्भीरता से लेते हुये न्याय का पीडित भाईयो को आश्वासन दिया। बात करने पर बताया की परवारिक मामला है। किसी के साथ अन्याय नही होने पायेगा ।हम तत्काल मामले की जाच करवाते है।

Leave a Reply