ब्यूरो डेस्क | पूरे देश में लॉकडाउन 4.0 को बढ़ा दिया गया है. इस बाबत गृह मंत्रालय की ओर से गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं. घरेलू-विदेशी उड़ानों को इजाजत नहीं दी गई है. रेस्त्रां, स्कूल और जिम को भी खोलने की इजाजत नहीं दी गई है. लेकिन वहीँ बात करें छोटे शहरों की तो ऐसे एक शहर हैं जहाँ, इस कोरोना युग में घोर लापरवाही होती हुई नज़र आ रही है. जहाँ अब तक के लॉक डाउन में प्रशासन के नज़र के सामने सोशल डिस्टेंस की धज्जियाँ उड़ाई गई है और अब तो बिना आदेश जरी किये कपड़ों के साथ खाने पिने की दूकान भी खोल दी गई है. स्कूल अब चोरी चोरी फीस भी मांगने लगे हैं.खैर इस दुर्व्यवस्था के जिम्मेदार को भी खोजा जायेगा, फिलहाल जानते है लॉक डाउन 4.0 के बारे में.

  • कोरोना हॉटस्पॉट एरिया में सख्ती जारी रहेगी
  • मेट्रो पर पाबंदी रहेगी, स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे

पूरे देश में लॉकडाउन 4.0 को बढ़ा दिया गया है. इस बाबत गृह मंत्रालय की ओर से गाइडलाइंस जारी कर दी गई. इसमें भी घरेलू-विदेशी उड़ानों को इजाजत नहीं दी गई है. हॉटस्पॉट एरिया में सख्ती जारी रहेगी. मेट्रो पर पाबंदी रहेगी. इसके अलावा स्कूल-कॉलेज बंद भी बंद रहेंगे. रेस्त्रां, स्कूल और जिम को भी खोलने की इजाजत नहीं दी गई है.

इधर, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा लॉकडाउन 4.0 के गाइडलाइंस को लेकर आज रात 9 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवों/ महानिदेशकों से चर्चा करेंगे. लॉकडाउन 3.0 की मियाद आज खत्म हो रही है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के पैमानों के मुताबिक राज्य अब जोन तय करेंगे. अभी तक केंद्र इसे तय करता आ रहा था. हवाई उड़ानें, मेट्रो, रेल सेवाएं, स्कूल-कॉलेज, होटल-रेस्तरां, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल और जिम पहले की तरह बंद रहेंगे. स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स और स्टेडियम खुलेंगे लेकिन कोई दर्शक नहीं होगा. धार्मिक और राजनीतिक आयोजनों पर पाबंदी जारी रहेगी. धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. ऑनलाइन लर्निंग चलती रहेगी.

कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जोन में एक राज्य से दूसरे राज्यों में आपसी सहमति से बसें जा पाएंगी. रेड और ऑरेंज जोन के अंदर कंटेनमेंट और बफर जोन बनाए जाएंगे. जिलाधिकारी तय कर सकेंगे. कंटेनमेंट जोन में जरूरी सुविधाएं जारी रहेंगी. मेडिकल इमरजेंसी और जरूरी सेवाओं के अलावा बाकी लोगों का आना जाना बंद रहेगा. कंटेनमेंट जोन में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, घर घर सर्विलांस जैसे तरीकों से निगरानी रखी जाएगी. रात 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोगों के मूवमेंट पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी.

अब इन्तेजार है जिलास्तरीय आदेश और निर्देश की, देखना है कि ये नियम केवल कमजोर वर्ग के लिए है या प्रशासन के मेहमान भी इसमें शामिल होते हैं.

Leave a Reply