संवादाता : शैलेंद्र शर्मा

आजमगढ़। बुधवार को डी0आई0जी0 आजमगढ़ परिक्षेत्र, सुभाष चन्द्र दुबे द्वारा लाकडाउन को पूर्णतया सुनिश्चित कराने हेतु रेलवे स्टेशन, आजमगढ़ का औचक निरीक्षण किया गया।

उक्त निरीक्षण के समय डी0आई0जी0 रेलवे सुरक्षा बल, गोरखपुर मण्डल डा0 एस0के0 सैनी व मिर्जा राशिद बेग़, प्रभारी निरीक्षक, थाना रेलवे सुरक्षा बल, आजमगढ़ मौजूद रहे। रेलवे स्टेशन के दोनो प्लेटफार्मो का लगभग 02 किमी भ्रमण करने के उपरान्त डी0आई0जी0 आजमगढ़ परिक्षेत्र द्वारा प्रभारी निरीक्षक थाना सिधारी के साथ रेलवे स्टेशन से लेकर मूसेपुर चौराहा, पहलवान मूर्ति चौराहा, नरौली चौराहे, नरौली पुल होते हुए थाना सिधारी तक कुल 07 कि0मी0 फुट पेट्रोलिंग की गयी।

फुट पेट्रोलिंग के दौरान आने जाने वाले वाहनों को चेक करते हुए लोगों को लाकडाउन का अनुपालन करने की नसीहत दी गयी। साथ ही प्रत्येक चौराहे-तिराहे पर उपस्थित फोर्स को मनोयोग से ड्यूटी करने के साथ-साथ उनको लाकडाउन का पूर्णतया अनुपालन कराने हेतु पूर्ण कर्तव्यनिष्ठा के साथ ड्यूटी करने हेतु निर्देशित किया गया।

साथ ही उन्हे साफ-साफाई की व्यवस्था लगातार बनाये रखने, अपने आपको सैनेटाइज करने और सोशल डिस्टेन्सिंग को बनाये रखते हुए ड्यूटी करने हेतु प्रेरित किया गया। जवानों का मनोबल बढ़ाते हुए!

डी0आई0जी0 आजमगढ़ परिक्षेत्र, सुभाष चन्द्र दुबे द्वारा बताया गया कि आप सभी लोग कोरोना महामारी के खिलाफ कोरोना वैरियर्स के रुप में काम कर रहे हैं, अतः एक दृढ़ निश्चयी योद्धा की तरह फील्ड में अपनी ड्यूटी करते हुए जनसामान्य से पूर्ण विनम्रता किन्तु दृढ़ता के साथ अपने कर्तव्य पालन हेतु पेश आयें, साथ ही पुलिस कर्मियों को उनके परिवार से सम्बन्धित लोगों की बीमारी व समस्यायों के बारे में भी पूछा गया, साथ ही साथ उनसे कहा गया कि यदि पुलिस कर्मियों के परिवार में कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की बीमारी या किसी भी प्रकार की वस्तुओं की आवश्यकता से प्रभावित है तो वह पुलिस अधीक्षक व स्वयं मेरे सी0यू0जी नम्बर पर अपनी आवश्यकता को बताते हुए या व्हाट्सप पर भी अपना मैसेज कर सकते है, तत्पश्चात उनकी समस्या का त्वरित समाधान कराया जायेगा।

डी0आई0जी0 आजमगढ़ परिक्षेत्र द्वारा थाना सिधारी पहुँचकर थाने का औचक निरीक्षण किया गया और थाने में सोशल डिस्टेन्सिंग बनाये रखते हुए बैरिको में बेड लगाने के निर्देश दिये गये तथा 35 ऐसे व्यक्तियों को, जिनके पास आवश्यक खाद्यान उपलब्ध नहीं थे, उनके घरो में लगभग 20-20 कि0लो0 राशन (आटा, चावल, सरसो का तेल, दाल, नमक, मसाला, साबुन आदि) भेजकर आवश्यक सहायता उपलब्ध करायी गयी।

Leave a Reply