संवाददाता सऊद अंसारी


ग़ाज़ीपुर! लाकडाउन के दौरान रोजी-रोटी ठप होने के कारण भोजन के संकट का सामना कर रहे लोगों में सिर्फ इंसान ही नहीं अपितु बेजुबान मवेशी भी चारा-भूसा नहीं मिलने से काफी परेशान हैं। ऐसे में सब्जी मंडी तथा जरूरतमंदो के सेवार्थ संचालित कम्युनिटी भोजनालयों से कटे-फटे साग-सब्जी का संग्रह कर उसे भूख से बेहाल मवेशियों तक पहुंचाने के कार्य में लगे सामाजिक कार्यकर्ता भी किसी कर्म योध्दा के ही तुल्य हैं। जरूरतमंदो में भोजन वितरण के आज उन्नीसवें दिन अपने आवास पर स्थापित भोजनालय में श्रमदान कर रहे हलवाई साथियों से भोजन बनाने के दौरान बड़ी मात्रा में एकत्र होने वाले हरे साग-सब्जी के कतरन को समाजसेवी साथियों के जरिये प्रतिदिन नियमित रूप से भूखे मवेशियों तक पहुचवायें जाने के निर्देश प्रदान करते हुए पूर्व धर्मार्थ कार्य मंत्री विजय कुमार मिश्र ने उक्त बातें कहीं। इस क्रम में अपने आवास से जरूरतमंदो के लिए संचालित हो रहे भोजन वितरण कार्यक्रम में दिल खोलकर मदद कर रहे नगर की सुसम्पन्न दानवीर जनता की आज पुनः प्रशंसा करते हुए मिश्र ने कहा कि इस पुनीत अभियान से जुड़कर यहाँ के लोग जिस तरह अपनी आस्था व सेवा का प्रदर्शन कर रहे है उससे अब यह “भोजन” भोजन न रहकर ” महाप्रसाद “ बन चुका है, बताते चलें कि इस कार्यक्रम से प्रभावित होकर आज के दानदाता नखास स्थित नगर के प्रसिद्ध गोपाल मिष्ठान भंडार के संचालक पप्पू भईया ने एक तरफ जहाँ कुल 2200 से अधिक लोगों में वितरण हेतु आज सुबह वितरित सब्जी युक्त पोलाव एवं आज शाम को वितरित होने वाले कचौड़ी बुनिया पर आने वाला पूरा खर्च उठाते हुए अपनी दरियादिली दिखाई वहीं ऋषि चतुर्वेदी जी एवं पेशे से शिक्षिका आज की दानदात्री श्रीमती ज्ञानप्रिया जी ने नगद राशि एवं खाद्य सामग्री प्रदान करते हुए इस नेक अभियान को गति देने का कार्य किया। इनके अतुलनीय एवं अनुकरणीय योगदान के लिए ह्रदय से साधुवाद प्रकट करते हुए जरूरतमंदो के बीच सुबह-शाम दोनों समय विगत उन्नीस दिनों से लगातार सबके दरवाजे जाकर भोजन पैकेट का सुरक्षित रूप से वितरण करने के कार्य में लगे अपने सभी वालंटियर्स के प्रति सुख समृद्धि एवं आरोग्य की ईश्वरीय कामना के साथ सबको धन्यवाद दिया !

Leave a Reply

error: Content is protected !!