ब्यूरो डेस्क | कोरोना संक्रमण का इलाज कि समस्या पुरे विश्व के सामने है, ऐसे में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन गोलियां कारगर साबित हो सकती हैं. पिछले दिनों अमेरिका ने भी भारत से दवाइयां मांगी थी. जो काफी चर्चा में रहा.

शुक्रवार को लव अग्रवाल, संयुक्त सचिव, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि “हमारी घरेलू आवश्यकता 1 करोड़ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन गोलियों की है, जबकि हमारे पास 3.28 करोड़ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन टैबलेट अभी उपलब्ध हैं.”

ऐसे में मन जा रहा है कि भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में समस्या नहीं आयेगी.

Leave a Reply