संवादातता शैलेंद्र शर्मा

आजमगढ़. आम जनता के साथ ही अब माननीय भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते नजर आ रहे हैं. ऐसा ही कुछ बुधवार को आजमगढ़ में देखने को मिला, जब समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने गरीबों को राशन बांटने के नाम पर अपने आवास पर सैकड़ों की भीड़ इकठ्ठा कर ली. इस दौरान लोग राशन के लिए एक दूसरे पर चढ़ते नजर आए. सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाने पर जब पूर्व सांसद से पूछ गया तो उन्होंने ने जनता को ही अनपढ़ बता दिया. साथी ही जिला प्रशासन पर पास न देने का आरोप भी लगा दिया.

दरअसल, नगर के आरटीओं मुहल्ले में स्थित सपा नेता व पूर्व बाहुबली सांसद का आवास है. बुधवार को उनके आवास के अहाते में खचाखच लगी भीड़ राशन लेने के लिए पहुंची थी. राशन बाहुबली सांसद रमाकांत यादव बांट रहे थे. जिले का मुबारकपुर कस्बा कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहा है और चार लोग कोरोना से संक्रमित भी है. प्रशासन लगातार लोगों से सोशल डिंस्टेंसिंग बनाने के लिए प्रचार प्रसार कर रहा है, और राहत सामाग्री प्रशासन को उपलब्ध कराने के लिए कहा जा रहा था. लेकिन बावजूद इसके बाहुबली सांसद पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा. इससे पहले भी कोरोनो को लेकर बाहुबली ने सरकार पर गंभीर टिप्पणी की थी.
सवाल पूछने पर बोले जनता अनपढ़

भीड़ जुटाकर राशन बांटे जाने के सवाल पर बाहुबली ने जनता को ही अबोध और अज्ञानी बता दिया. साथ ही कहा कि हमने पहले सोशल डिस्टेंसिंग के तहत ही लाइन लगवाई थी, लेकिन जब राशन बबंटना शुरू हुआ तो लोगों ने भगदड़ मचा दिया. यह भी सही है कि हम उनको रोक नहीं सके. यही नहीं उन्होंने प्रशासन पर ही आरोप मढ़ दिया कि राशन ले आने के लिए प्रशासन ने उनको पास जारी नहीं किया, जिससे हमे जनता को यहां बुलाकर राशन बाटना पड़ा.

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
बता दें कुछ दिन पहले ही पूर्व सांसद ने कहा था कि देश में कोरोना जैसी कोई बीमारी नहीं है. केंद्र सरकार देश के तमाम मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए कोरोनावायरस का सहारा ले रही है. हालांकि बाद में उन्होंने मीडिया पर बयान को तोड़ मरोड़कर पेश करने का आरोप भी लगा दिया था. बता दें आजमगढ़ जिले में तबलीगी जमात से लौटे चार लोगों में कोरोनावायरस का संक्रमण मिला है. ऐसे में पुलिस सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवाने में जुटी है. लेकिन जब जन प्रतिनिधि ही इसका उल्लंघन करेंगे तो प्रशासन के सामने भी दिक्कत आएगी.

Leave a Reply