गाजीपुर। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच पुलिस अधीक्षक तथा जिला प्रशासन एक साथ मिलकर गरीबों और बेसहारा लोगों की मदद मे संलग्न हैं तो वहीं दूसरी तरफ यातायात उपनिरीक्षक सुधीर त्रिपाठी एक बार फिर अपनी मनमानी के चलते चर्चा में आ गये हैं।

कल मानवीय हितों की अनदेखी करते हुए उन्होंने बेवजह मेडिकल स्टोर संचालक एक पत्रकार की बाइक को रोककर चालक को वापस जाने और फ्रेक्चर के आपरेशन के बाद छड़ी के सहारे चल रहे पत्रकार को जबरन पैदल ही मेडिकल स्टोर पर जाने के लिए मजबूर कर दिया।

उल्लेखनीय है कि शहर के आमघाट निवासी पत्रकार रामजन्म कुशवाहा का मेडिकल स्टोर शहर के मिश्र बाजार में स्थित है।अपने पैर के आपरेशन के चलते रामजन्म कुशवाहा पैदल चलने में असमर्थ है जिसके चलते कल वह अपने पुत्र के साथ बाइक से अपने मेडिकल स्टोर जा रहे थे। उसी समय सदर कोतवाली के पास उपनिरीक्षक सुधीर त्रिपाठी ने उनकी बाइक रुकवाकर उन्हें पैदल जाने का फरमान सुना दिया। जब पत्रकार ने अपना परिचय देकर अपने मेडिकल स्टोर को खोलने जाने की बात बताई और कहा कि लाकडाउन मे भी आवश्यकता पर पत्रकार को आने जाने तथा मेडिकल स्टोर को खोलने का आदेश है। इतना बताने के बावजूद भी वे कुछ सुनने को तैयार नहीं हुए और बाइक को वापस कर दिया, जब कि उसी रास्ते से कई ठेलेवाले और बाइक सवार आ जा रहे थे।

मजबूर होकर भुक्तभोगी किसी तरह धीरे धीरे चलकर क्षुब्ध मन से काफी परेशानियों के बाद अपने मेडिकल स्टोर पर पहुंचा।

केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने पुलिस अधीक्षक का ध्यान आकृष्ट कराते हुए उपनिरीक्षक सुधीर त्रिपाठी के विरुद्ध उचित कार्यवाही की मांग की है।

Leave a Reply