ब्यूरो डेस्क। कोरोना वायरस के कहर को रोकने के लिए सरकार ने 21 दिनों का लॉकडाउन किया है , जिसमे पूरा देश बंद हैं , लेकिन आवयश्कता अनुसार जरुरत की चीज़ों को लेने के लिए मेडिकल, किराना , बैंक , सब्जी मार्किट इत्यादि खुले रखे गयें हैं, जिसमे सोशल डिस्टेंस को मेन्टेन करना है। ;पुलिस भी आम जनमानस काम पूरा सहयोग कर रही और जनता को  जागरूक भी कर रही है।

लेकिन वहीँ कुछ पुलिस वाले अपने आप को तानाशाह समझने लगे हैं और वो अपने इस कृत से पुरे पुलिस समाज को बदनाम कर रहे हैं।  ये समय आम जनता को समझने और उनका सहयोग करने का है। बिना पूछे लाठी चलाना जायज नहीं है। ऐसा ही मामला आंध्र प्रदेश में आया , जहाँ एक सब इंस्पेक्टर कुछ लोगों को लाठियों से पीटते-डराते दिख रहा है. इन लोगों में औरतें भी शामिल हैं. वहां के गृह मंत्री ने पुलिसकर्मी पर सख्त कार्यवाही के आदेश दे दिए।

सोशल मीडिया पर जैसे ही पुलिसवाले का वीडियो वायरल हुआ, मामले ने तूल पकड़ लिया. आंध्र प्रदेश की होम मिनिस्टर मेकाथोती सुचरिता ने झटपट DGP को कड़ा एक्शन लेने का निर्देश दिया. DGP ने सब इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया.

इसके साथ ही लोगों से अपील की कि वो लॉकडाउन के नियमों का पालन करें. अपने अधिकारियों से इस कठिन समय में संयम बरतने को कहा.

इसके अलावा बहुत से वीडियो आए हैं. एक दिल्ली के आनंद पर्वत इलाके का था. इसमें एक हवलदार सब्ज़ी के ठेले पलटता दिख रहा था. मामले को तूल पकड़ते ही उसे सस्पेंड कर दिया गया.

Leave a Reply