गाजीपुर।भारत में भी कोरोना से संक्रमण के 137 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. इनमें 113 भारतीय और 24 विदेशी नागरिक हैं. कोरोना ने अब तक 145 देशों को अपनी चपेट में ले लिया है. केरल में 24 लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं. हालांकि, इनमें से 3 लोगों का इलाज हो चुका है. इसी क्रम में गाजीपुर के सदर अस्पताल में एक कोरोना का सस्पेक्ट मरीज एडमिट हुआ है। हम पहले आपको बता दें कोरोना का सस्पेक्ट का यह मतलब नहीं कि वह मरीज कोरोना वायरस से ही पीड़ित है। चूंकि उस मरीज़ को खांसी की समस्या है और वह मरीज़ दुबई से आया हुआ है। इसको देखते एहतियात के लिए मरीज़ को अस्पताल के कोरो ना वार्ड में एडमिट किया गया है, उसके सैंपल को जांच के लिए आगे भेजा जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार मरीज़ 10 मार्च को दुबई से वाराणसी और वाराणसी से अपने घर गाज़ीपुर के मरदह थाना क्षेत्र में आया था। उसे एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा संपर्क कर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये समझना जरूरी है कि इस वायरस के लक्षण क्या हैं?

कोरोनावायरस (कोवाइड-19) में पहले बुख़ार होता है.
इसके बाद सूखी खांसी होती है और फिर एक हफ़्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है.
इन लक्षणों का हमेशा मतलब यह नहीं है कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण है.
कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में निमोनिया, सांस लेने में बहुत ज़्यादा परेशानी, किडनी फ़ेल होना और यहां तक कि मौत भी हो सकती है.
उम्रदराज़ लोग और जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है (जैसे अस्थमा, मधुमेह, दिल की बीमारी) उनके मामले में ख़तरा गंभीर हो सकता है.

Leave a Reply