संवाददाता- सऊद अंसारी।

गाज़ीपुर। आपको बता दे कि अपनी मांगों को लेकर अखिल भारतीय युवा क्षत्रिय महासभा जिला अध्यक्ष राजकुमार के नेतृत्व में  जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा, साथ ही साथ माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा एससी एक्ट में तुरंत गिरफ्तारी का जो नियम आदेशित किया है या 9 अगस्त 2018 के केंद्र के फैसले को वैध रखते हुए जो मोहर लगाई है, वह सरासर गलत है। इसका हम लोग भरपूर विरोध करते हैं क्योंकि बिना जांच के गिरफ्तारी सरासर गलत है और ऐसा करने से समाज में विरोध बढ़ेगा एवं निर्दोष लोगों को जेल भी जाना पड़ सकता है। यह आदेश लागू होना ऐसा प्रतीत होता है की जैसे उपद्रवी के हाथ में खंजर पकड़ा देना। इस मौके पर उपस्थित जिला अध्यक्ष राजकुमार सिंह, दिनेश कुमार सिंह, केशव सिंह, रघुराज सिंह, इंद्र केश सिंह, दीपक सिंह, युवराज सिंह, अनुराग सिंह, सूरज सिंह, मनीष सिंह, हैप्पी सिंह, जिला पंचायत प्रत्याशी भीम सिंह आदि उपस्थित रहे।

उनकी प्रमुख मांगे – (1) अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार अधिनियम के दुरुपयोग को रोका जाए। (2) अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार अधिनियम के मामलों में जांच के उपरांत ही कार्यवाही की जाए। (3) अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार अधिनियम में जो भी फर्जी मामले पाए जाते हो तो उसके विरुद्ध दंड नातमक कार्रवाई करते हुए सहायता प्राप्त राजस्व की वसूली की जाए। (4) छुट्टा आवारा पशुओं को पशु आश्रय केंद्र भेजा जाए। (5) ओलावृष्टि में हुए किसानों के नुकसान का आकलन करके मुआवजा दिया जाए। (6) जनपद के अंदर विभिन्न जगहों पर बिना परमिशन के कोई सभा के नाम पर धर्म परिवर्तन का कार्य रोका जाए। (7) नवनिर्मित पावर हाउस (मैनपुर)को तत्काल चालू कराया जाए।

By

Leave a Reply