अभिनेन्द्र की कलम से……………

ब्यूरो रिपोर्ट | देश में कोरोना के संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। सरकार ने 29 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि की है। वही हमारे वरिष्ठ पत्रकार आर एन राय ने बताया कि “कोरोना वायरस के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में जिला प्रशासन पूरी चौकसी बरत रहा है।कोरोना के मद्देनजर जिला अस्पताल में आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है।दस बेड वाले कोरोना वार्ड में सभी जरुरी मेडिकल इंतजाम किये गये है।फिलहाल गाजीपुर में अभी तक कोरोना से प्रभावित कोई केस सामने नही आया है।लेकिन सरकार और शासन के निर्देशों के तहत जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह अलर्ट बना हुआ है।

देश में कोरोना वायरस मरीजों की तादाद बढ़ने के बाद सरकार इसे फैलने से रोकने के लिए पूरी तरह हरकत में आ गई है। एक तरफ स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिल्ली में इस वायरस के निपटने की तैयारियों की समीक्षा और मंत्रिमंडलीय समूह के साथ हालात पर चर्चा की। दूसरी तरफ पीएमओ ने मोर्चा संभालते हुए सभी विभागों को पूरी मुस्तैदी के साथ काम पर जुटने का निर्देश दिया। सरकार ने विदेश से आने वाले हर नागरिक के लिए एयरपोर्ट, बंदरगाह या चेकपोस्ट पर स्क्रीनिंग अनिवार्य कर दी है। अब तक अनिवार्य स्क्रीनिंग केवल 12 देशों से आने वाले यात्रियों की जा रही थी। सरकार देश में 19 नए टेस्टिंग लैब खोलने के साथ देश के बाहर पहला टेस्टिंग लैब खोलने की तैयारी में है। इसके साथ ही संक्रमित व्यक्ति के तीन किलोमीटर के दायरे में विशेष जागरूकता और सतर्कता बरतने का फैसला लिया गया है।

फरवरी के पहले हफ्ते तक केरल में कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आए थे. उसके बाद से केरल में कोई नया मामला सामने नहीं आया है लेकिन सोमवार से जैसे ही तीन मामलों की पुष्टि हुई है, दिल्ली के आस पास इस वायरस को लेकर हलचल तेज़ हो गई है. लेकिन आप जो भी देख रहे हैं वो एहतियात के तौर पर तैयारियों की तस्वीरें हैं. सतर्क रहना है उसमें बुराई नहीं है लेकिन आप सभी से अनुरोध है कि अनावश्यक अफवाहबाज़ी और चिन्ताओं से दूर भी रहें. यह ध्यान रखें कि चीन में इसका ज़ोर धीमा पड़ चुका है. चीन से बाहर कम मौते हुई हैं. अमरीका में 6 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो गई है. ईरान में 70 से अधिक मौतों की ख़बर आई है. ईरान में कोरोना वायरस का ज़ोर थोड़ा तेज़ है. इटली में 52 मौतों की खबर है.

अफवाह के कारण भी यह नुकसान बड़ा हो सकता है इसलिए ज़िम्मेदारी का परिचय दें. अगर यह वायरस फैल गया तो फिर आर्थिक मोर्चे पर एक नई चुनौती का सामना करना पड़ेगा क्योंकि उस मोर्चे पर भारत उबरने के लिए संघर्ष कर रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली दंगो पर तो नहीं बोला लेकिन कोरोना वायरस पर उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस से घबराने की ज़रूरत नही है. केंद्र और राज्य सरकारें मिल कर काम कर रही हैं. अब प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ही बता सकते हैं कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और असम बीजेपी की विधायक कोरोना वायरस से जो उपाय बता रही हैं वो कितना सही है. क्या स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन इन उपायों को कोरोना वायरस के संदर्भ में वैज्ञानिक मानते हैं, मानते हैं तो ट्वीट करें.

योग के अपने फायदे हैं लेकिन क्या योग करने से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है, अगर ऐसा है स्वास्थ्य मंत्री को तुरंत इसकी पुष्टि करनी चाहिए. गौ मूत्र से इलाज होगा यह भी भारत सरकार को बताना चाहिए. नहीं तो बीजेपी के अपने विधायकों और नेताओं को रोकना चाहिए कि वे अपनी तरफ से कोरोना वायरस की दवा या बचने का एलान न करें. कोरोना वायरस अर्थव्यवस्था के लिए भी चुनौती लेकर आ रहा है. भारतीय रिज़र्व बैंक ने कहा है कि कोरोना वायरस के फैलने के कारण दुनिया के वित्तीय बाज़ारों में उतार चढ़ाव देखा जा रहा है. भारत में इसका असर सीमित रहा है. रिजर्व बैंक वैश्विक और भारतीय बाज़ारों पर नज़र रख रहा है. ज़रूरत पड़ने पर उचित कदम उठाए जाएंगे.

इस वक्त आप यही करें कि साफ सफाई का ध्यान रखें, गंदे हाथ से चेहरे को स्पर्श न करें, छींकते समय रुमाल का इस्तमाल करें. भीड़ में जाने से बचें.

Leave a Reply